जीएसटी निल, तो मोबाइल से भरना होगा रिटर्न

 10 Jun 2020 02:33 AM  6

भोपाल । दो माह से ज्यादा समय से लॉक डाउन के कारण कारोबारियों का व्यवसाय नहीं हुआ है। ऐसे में उनका जीएसटी भी निल रहा है। ऐसे कारोबारियों को रिटर्न भरना तो अनिवार्य है, पर अब इसके लिए उन्हें चार्टर्ड एकाउंटेंट के पास जाने की जरूरत नहीं है। निल जीएसटी लायबिलिटी वाले कारोबारियों को राहत देते हुए केंद्र सरकार ने उन्हें एसएमएस के जरिए रिटर्न भरने की सुविधा दी है। इसके लिए जीएसटी पोर्टल पर एनआईएल एफओआरएम जीएसटीआर-3 बी की फैसिलिटी शुरू की गई है। सेंट्रल बोर्ड आॅफ इनडायरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम्स ने इसके लिए नंबर 14409 जारी किया है। कारोबारी मोबाइल के जरिए ही रिटर्न का फाइलिंग स्टेटस भी ट्रैक कर सकेंगे। प्रदेश में ऐसे करीब दस लाख कारोबारियों को राहत मिलेगी। अभी तक यह होता था कि रिटर्न नहीं भरने पर रजिस्ट्रेशन निरस्त हो जाते थे। बाद में नए सिरे से रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू करना पड़ता था। रिटर्न नहीं भरने पर लेट फीस या जुर्माना लगता था।

 रिटर्न के लिए अपनानी होगी ये प्रक्रिया

कारोबारियों को एनआईएलस् पेश- 3 बीस पेश- जीएसटी नंबर- स्पेश- टैक्स पीरियड का मैसेज टाइप करना होगा। इसके बाद छह नंबर का कोड आएगा । उदाहरण के लिए 123456 कोड आया। अब आपको फाइलिंग के लिए कन्फर्म करना है, जिसमें यह कोड लगेगा और सीएनएफ 3 बी 123456 का मैसेज टाइप करना होगा। इसके बाद रिटर्न भरने का कंफर्मेशन आएगा। एसएमएस के जरिए मदद भी ले सकते हैं। इसके लिए हेल्प 3 बी टाइप करके भेजना होगा।

 कारोबारियों को बड़ी राहत

लॉक डाउन के कारण इस बार कारोबार नहीं हुआ है। कई ऐसे कारोबारी हैं, जिनकी बिक्री नहीं होती है। कई ऐसे होते हैं कि जिनकी जितनी बिक्री होती है, उसे अधिक आर्डर कैंसिल हो जाते हैं। ऐसे में उनका जीएसटी शून्य हो जाता है। सरकार की इस सुविधा से ऐसे कारोबारियों को राहत मिलेगी। राजेश जैन, सीनियर चार्टर्ड एकाउंटेंट,भोपाल