नेता प्रतिपक्ष के लिए कमल नाथ के नाम पर बन सकती है सहमति

नेता प्रतिपक्ष के लिए कमल नाथ के नाम पर बन सकती है सहमति

भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ को नेता प्रतिपक्ष बनाने पर सहमति बन सकती है। पहले नेता प्रतिपक्ष के लिए पूर्व मंत्री डॉ. गोविंद सिंह का नाम सामने आया था, पर पूर्व विस अध्यक्ष एनपी प्रजापति और पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा की दावेदारी से मामला उलझ गया। बाद में यह जानकारी आई कि एनपी प्रजापति को नेता प्रतिपक्ष बनाने पर सहमति हो गई है, लेकिन अब इस मामले में नया मोड आ गया है। पूर्व वन मंत्री उमंग सिंघार ने कमल नाथ को ही नेता प्रतिपक्ष बनाने की वकालत की है। इधर, नाथ पहले कह चुके हैं कि पार्टी हाईकमान ही चयन करेगा, लेकिन विधायकों में इसको लेकर गुटबाजी सामने आई है। इधर, विधानसभा ने भी सत्र को लेकर कमल नाथ को कांग्रेस नेता के रूप में मान्यता देते हुए सर्वदलीय बैठक के लिए उन्हें आमंत्रित किया है। विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की भूमिका उपचुनाव तक कमल नाथ ही निभाएंगे। उपचुनाव के बाद नेता प्रतिपक्ष का चुनाव विधायकों की सहमति से किया जाएगा।

कमलनाथ ही हमारे नेता: सिंघार

पूर्व वन मंत्री उमंग सिंघार ने कहा कि हमारे मुख्यमंत्री कमलनाथ थे और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भी वहीं हैं। अब सदन में नेता प्रतिपक्ष भी वही होंगे।