कटनी के कांग्रेस नेता की कोरोना से मौत 8 नए मरीजों के साथ संक्रमितों का आंकड़ा हुआ 317

 16 Jun 2020 01:56 AM  3

जबलपुर । समीपवर्ती जिला कटनी से संक्रमित होकर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराए गए 56 वर्षीय पीसीसी के सचिव तथा वरिष्ठ कांग्रेस नेता फिरोज अहमद की सोमवार को मौत हो गई। फिरोज की मौत को जबलपुर की संख्या में शामिल नहीं किया गया है। वहीं सोमवार को मिली परीक्षण रिपोर्ट्स में 8 नए मामले सामने आए। जिससे संक्रमितों की संख्या बढ़कर 317 हो गई है। एक्टिव केस 60 हैं तथा 244 लोग अब तक स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किए जा चुके हैं। मेडिकल कॉलेज की वायरोलॉजी लैब से दोपहर को 101 जाँच रिपोर्ट्स प्राप्त हुईं, इनमें न्यू शास्त्री नगर निवासी पूर्व से संक्रमित परिवार की एक साल की मासूम पॉजिटिव पाई गई। शाम को दूसरी किश्त में मेडिकल से 56 रिपोर्ट्स जारी की गईं। इन रिपोर्ट्स में दीनदयाल वार्ड आईटीआई शिवमंदिर के पास निवासी 60 वर्षीय वृद्ध को पॉजिटिव पाया गया। देर शाम 6 और रिपोर्ट्स आईसीएमआर लैब से पॉजिटिव पाई गईं, इनमें पाटन के एक ही परिवारके 5 सदस्य शामिल हैं। संक्रमितों में 78 वर्षीय वृद्ध सहित दो पुरूष तथा तीन महिलाएं हैं। इसके अलावा शीतलामाई बल्दी कोरी की दफाई घमापुर निवासी 62 वर्षीय महिला भी संक्रमित पाई गई है।

सूपाताल कब्रिस्तान में किया गया अंतिम संस्कार

नेताजी सुभाष चन्द्र बोस मेडिकल कॉलेज की चिकित्सकीय टीम द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार 56 वर्षीय कटनी निवासी फिरोज अहमद को 11 जून को भर्ती किया गया था। कटनी में ही 10 जून को उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव प्राप्त हुई थी। वे कई वर्षों से उच्च रक्तचाप, मधुमेह, कारोनेरी आर्टीडिसीज, एवं मोर्बिटओबीसिटी से ग्रस्त थे। हृदय संबंधी उनका बायपास आॅपरेशन हो चुका था। भर्ती के समय उन्हें सांस लेने में तकलीफ थी तथा मधुमेह की जटिलता कीटोऐसिडिसिस की भी समस्या थी। भर्ती के पूर्व लगभग एक सप्ताह से बुखार खांसी तथा गले में खराश की समस्या थी। अपेक्षित सुधार परिलक्षित नहीं होने पर 12 जून को सुबह उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया। हाईरिस्क होने के कारण संक्रमण में उन पर ज्यादा असर किया। और हृदय किडनी आदि अंगों नें काम करना बंद कर दिया। मल्टी आॅर्गन फेल्युर होने की वजह से सोमवार को 11 बजे उनका दुखद निधन हो गया। निधन उपरांत उनका शव कोरोना गाइडलाइन के तहत समाजसेवी इनायत अली को सौंपा गया। सूपाताल कब्रिस्तान में उन्हें सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

विक्टोरिया में भी शुरू हुई जांच

कलेक्टर श्री यादव ने बताया कि विक्टोरिया हॉस्पिटल में ट्रू नॉट सिस्टम से जाँच शुरू की गई है। इस पद्धति से निगेटिव रिपोर्ट कन्फर्म हो जाती है, पॉजिटिव रिपोर्ट के लिए कन्फर्मेशन आईसीएमआर या मेडिकल वायरोलॉजी लैब से लिया जा रहा है। सोमवार को शाम को मिली 6 रिपोर्ट्स विक्टोरिया हॉस्पिटल से कन्फर्मेशन के लिए आईसीएमआर को भेजी गई थी। कलेक्टर ने यह भी बताया कि मंगलवार से पूल सैम्पलिंग शुरू की जाएगी। इसके तहत सब्जी, फल आदि का कारोबार करने वालों के सामूहिक रूप से सैम्पल लिए जाएंगे और उनमें से कुछ का परीक्षण कराया जाएगा।

सिंधी कैम्प-जयप्रकाश नगर मुक्त, पाटन में नया कंटेनमेंट जोन

पिछले 21 दिनों से कोरोना का कोई नया केस नहीं मिलने पर शहर के सिंधी कैम्प और अधारताल के जय प्रकाश नगर को कंटेनमेंट जोन से डी-नोटिफाइड कर दिया गया है। कलेक्टर भरत यादव द्वारा उक्त आदेश जारी करने के साथ ही पाटन के वार्ड क्रमांक-6 में संक्रमित परिवार के सामने आने तथा एक मौत होने के मद्देनजर नया कंटेनमेंट जोन बनाने की अधिसूचना भी जारी की गई है।

हनुमानताल जैन मंदिर के पट बंद

हनुमानताल श्री दिगम्बर जैन मंदिर के पास एक माली के संक्रमित होने के बाद प्रबंधन समिति ने मंदिर के पट बंद कर दिए हैं। तमरहाई निवासी माली के संक्रमित होने पर प्रबंधन समिति ने एहतियातन कदम उठाया है। श्रद्धालुओं से अपील की गई है कि माली के संपर्क में या उसके द्वारा बेचे गए फूलों के संपर्क में जो भी आया हो, वह अपने स्वास्थ्य का परीक्षण कराए तथा संपूर्ण सतर्कता बरते।

इन्हें किया गया डिस्चार्ज

विक्टोरिया के कोविड वार्ड से तीन व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है। नई गाइड लाइन के मुताबिक डिस्चार्ज किए गए खाई मोहल्ला निवासी 6 साल की बालिका, भानतलैया निवासी 48 वर्षीय महिला, तथा छोटी ओमती पुत्री शाला निवासी 40 वर्षीय पुरूष को 7 दिन घर में ही क्वारेंटीन रहना होगा।