इंजीनियरिंग छोड़कर बॉलीवुड में बनाया था कॅरियर

 15 Jun 2020 02:55 AM  3

मुंबई। अभिनेता सुशांत सिंह अब हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन वे अपनी पीछे ऐसी यादें छोड़ गए हैं। उन्हों ने वर्ष 2017 में अपनी जीवनयात्रा के बारे में जानकारी शेरूर की थी, यहां प्रस्तुत हैं उस जानकारी के प्रमुख अंश :-

एस्ट्रोनॉट बनना चाहते थे

मैं हीरो बनने के लिए बिल्कुल उपयुक्त पटना से दिल्ली आया लड़का था। कॉलेज में मेरा पहला दिन था। मैं सोच रहा था कॉलेज जाऊंगा तो लड़कियों से मुलाकात होगी, पर यहां तो बहुत कम लड़कियां हैं जो इंजीनियरिंग पढ़ने आई हैं। इंजीनियरिंग मेरी पसंद नहीं थी। पहले मैं एस्ट्रोनॉट और बाद में एयरफोर्स पायलट बनना चाहता था। मेरी तीन बड़ी बहनें एवं भाई पढ़ाई में बहुत होशियार थे, इसलिए मुझसे बहुत उम्मीदें थीं। बेहतर नहीं करने का विकल्प ही नहीं था। मैं शाहरुख का फैन था। उनकी फिल्म दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे ने मेरा वह भ्रम दूर करने में मदद की कि मुझे क्या होना चाहिए।इस फिल्म में राज ने मुझे यह बताया कि पश्चिमी सभ्यता की प्रतीक बीयर पीने में हर्ज नहीं हैं वहीं शादी के मामले में भारतीय संस्कृति के अनुरूप सिमरन के पिता की मंजूरी जरूरी है।

सातवीं कक्षा में पढ़ते हुए कर लिया था दसवीं का सिलेबस

पढ़ाई में अच्छा था। पेरेंट्स खुश हुए जब 7वीं में मैंने 10वीं के फिजिक्स, मैथ्स के सिलेबस पूरे कर लिए। बोर्ड परीक्षाओं में मैंने उत्कृष्ट प्रदर्शन किया। इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम भी क्लियर किया, इसके साथ ही फिजिक्स का नेशनल ओलंपियाड जीता व दिल्ली के इंजीनियरिंग कॉलेज में पहुंचा।

यहां से आया टर्निंग पाइंट

अब तक मैं बहुत पढ़ाकू था और उम्मीद कर रहा था कि कॉलेज में लडकियों के मामले में किस्मत बदलेगी, पर ऐसा कुछ होना अब संदेहास्पद लग रहा था। त्एक दिन मेरे दोस्त ने सलाह दी यदि मैं लड़कियों से मिलना चाहता हूं तो मुझे डांसिंग क्लासेस जॉइन कर लेना चाहिए। मेरी पढ़ाई ठीकठाक चल रही थी इसलिए मैं डांस क्लास के लिए समय निकाल सकता था। यही मेरे जीवन का महत्वपूर्ण नया मोड़ साबित हुआ। इंजीनियरिंग एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करते समय मैं कुछ समय के लिए ब्रेक लिया करता था और आइने के सामने खड़े होकर सूरज हुआ मद्धम गाना गुनगुनाया करता था। मैं यह सब करता तो था लेकिन इसलिए नहीं करता था कि मुझे अभिनेता बनना है। ईमानदारी से कहूं तो उस समय मुझे फिल्मों में कोई रोल आॅफर किया जाता तो मैं उसे ठुकरा देता क्योंकि मैं पूर्णत: इंट्रोवर्ट व्यक्ति था। बाद में जब मुझे किसी लड़की से मिलने की जरूरत महसूस हुई, जिसने मुझे शिमाक डावर ग्रुप तक पहुंचा दिया। यहां से मेरे जीवन में एक नया मोड़ आ गया। स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के लिए मुझे स्कॉलरशिप मिली थी, लेकिन वहां जाना छोड़कर मैंने कॉलेज ही छोड़ दिया और वर्सोवा में एक रूम किचन वाले मकान में आ गया। वर्ष 2006 में जब कॉलेज में मेरा अंतिम वर्ष था मैंने अपने घर में यह बम गिराया। यह सुनकर मेरे घर वाले शॉक्ड हो गए, वे कुछ नहीं बोल पाए और उनके इस मौन को ही मैंने अनुमति मान लिया। यह उस समय बहुत मुश्किल था, लेकिन आज हालात अलग हैं। मेरे पिता जब सैर करने जाते हैं तो लोग उन्हें मेरी रिसेंट क्लिपिंग्स दिखाते हैं और उन्हें मुझ पर गर्व होता है। लेकिन आज भी जब हमारी बातचीत खत्म होती है तो कहते हैं- बेटा डिग्री तो ले लेता।

भावी अभिनेताओं को सलाह

बहुत ऐनालिटिकल न बनें, लोग आपको बता देंगे कि बड़ा बनने के लिए कठिन परिश्रम, धैर्य, समर्पण एवं कौशल विकास कितना जरूरी है, सबसे ज्यादा जरूरी है कि आपको अपने काम से प्यार होना चाहिए।

पैसे के लिए काम न करें

मैं जो भी करता हूं पूरे प्यार से करता हूं। यदि आप सिर्फ शोहरत या पैसे के लिए काम करते हैं, तो इससे काम नहीं चलेगा। मैं एक मध्यमवर्गीय परिवार से आया हूं, ऐसी कुछ चीजें हैं जो मैं पहले अफोर्ड नहीं कर सकता था। मुझे लगता था कि पैसा नहीं होने के कारण मेरे पास खुशी नहीं हैं लेकिन ऐसा नहीं है। इस पेशे में जब आप एक स्तर तक पहुंच जाते हैं तो पैसे और शोहरत आपके पास खुद आ जाते हैं।

भाग्य को दोष न दें

मैं आपको खेलों के इतिहास की एक घटना याद दिलाना चाहता हूं। वर्ष 1954 में रोजर बेनिस्टर पहले ऐसे व्यक्ति बने जिन्होंने एक मील की दौड़ चार मिनट से कम समय में तय की, उनके पहले यह काम कोई नहीं कर सका था। लेकिन उसके अगले साल 27 अन्य लोगों ने यह कारनामा कर दिखाया। ऐसा इसलिए हो सका क्योंकि बाद में लोगों ने सोचा की यदि वह ऐसा कर सकता है तो मैं क्यों नहीं।

डिप्रेशन में छोड़ी दुनिया

दिशा सालियान (9 जून 2020) : सुशांत की पूर्व मैनेजर 28 वर्षीय दिशा ने इमारत से छलांग लगाकरजान दी। मनमीत ग्रेवाल (16 मई 2020) : 32 वर्षीय टीवी अभिनेता ने अपने μलैट में सुसाइड कर लिया। लॉकडाउन की वजह से टीवी सीरियल का काम बंद था ऐसे में वो आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे। प्रेक्षा मेहता (26 मई 2020) : क्राइम पेट्रोल की अभिनेत्री ने इंदौर स्थित अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या की। कारण असफलता बताया। कुशल पंजाबी (26 दिसंबर 2019) : टीवी एवं फिल्म कलाकार कुशल मुंबई के पाली हिल स्थित अपने आवास में मृत पाए गए। वे भी डिप्रेशन के शिकार थे।