ओलंपिक टेस्ट इवेंट में मनप्रीत और श्रीजेश को आराम

ओलंपिक टेस्ट इवेंट में मनप्रीत और श्रीजेश को आराम

तोक्यो। हॉकी इंडिया (एचआई) ने जापान में 17 से 21 अगस्त तक होने वाले ओलंपिक टेस्ट इवेंट के लिये अपनी 18 सदस्यीय टीम गुरुवार को घोषित कर दी जिसमें कप्तान मनप्रीत सिंह, गोलकीपर पी आर श्रीजेश और सुरेंद्र कुमार जैसे सीनियर खिलाड़यिों को आराम दिया गया है। टीम प्रबंधन ने सीनियर खिलाड़ियों को आराम देने का फैसला किया है। टीम के प्रमुख कोच ग्राहम रीड ने कहा कि सीनियर खिलाड़ियों को किसी तरह की चोटों से बचाने और नवंबर में ओलंपिक क्वालिफाइंग मैचों के लिये तरोताजा रखने के इरादे से यह फैसला किया है। 

हरमनप्रीत कप्तान और मनदीप उपकप्तान

नियुक्त रीड ने कहा,‘‘हम कुछ सीनियर खिलाड़ियों को आराम दे रहे हैं, जिनमें कप्तान मनप्रीत भी शामिल हैं जो पिछले 12 महीने से लगातार हॉकी खेल रहे हैं और उन्हें अगले तीन महीने ओलंपिक के क्वालिफाइंग मैचों की तैयारियों में जुटना है।’’ सीनियर खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में हरमनप्रीत सिंह और मनदीप सिंह को कप्तान तथा उपकप्तान चुना गया है जबकि दो खिलाड़ियों आशीष टोप्नो तथा शमशेर सिंह को पदार्पण का मौका दिया गया है। एसवी सुनील को नौ महीने के बाद राष्ट्रीय टीम में वापसी का मौका मिला है। रीड ने कहा कि ओलंपिक टेस्ट इवेंट नये खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय मंच पर खुद को साबित करने का मौका देगा। रीड ने कहा,‘‘ विश्व रैंकिंग के अंकों का कोई जोखिम नहीं है इसलिये टोक्यो इवेंट हमारे पास नये खिलाड़ियों को मौका देने का अच्छा अवसर है। 

टीम इस प्रकार है

कृष्ण बहादुर पाठक, गुरिंदर सिंह, हरमनप्रीत सिंह(कप्तान),कोठाजीत सिंह,हार्दिक सिंह नीलकांत शर्मा,विवेक सागर प्रसाद, जसकरण सिंह, मनदीप सिंह (उपकप्तान), गुरसाबजीत सिंह,नीलम संजीप जैस, जरमनप्रीत सिंह,वरूण कुमार,आशीष टोप्नो,एसवी सुनील,गुरजंत सिंह,शमशेर सिंह,सुरज कारकेराप्रीति 

रामकुमार बिनगैमटन चैलेंजर के पहले दौर में हारे

बिनगैमटन (अमेरिका)। रामकुमार रामनाथन को पहला सेट जीतने के बावजूद यहां बिनगैमटन चैलेंजर के पहले दौर में अपने से कम रैंकिंग वाले अमेरिका के वाइल्ड कार्ड धारक एलेक्जेंडर रिचार्ड के खिलाफ शिकस्त का सामना करना पड़ा। पहले दौर में बाई हासिल करने वाले रामकुमार को 54160 डालर इनामी हार्ड कोर्ट प्रतियोगिता के पहले दौर में दुनिया के 443वें नंबर के अमेरिकी खिलाड़ी के खिलाफ 6-2 6-7,2- 6 से हार का सामना करना पड़ा।