पारा 39c पर स्थिर गर्मी से परेशान रहे लोग

 23 Jun 2020 12:43 AM  2

ग्वालियर।  जून माह का चौथा सप्ताह शुरू हो चुका है, यानी सोमवार 22 दिन बीत चुके हैं, लेकिन दक्षिण-पश्चिम मानसून के अब तक ग्वालियर-चंबल संभाग में दस्तक न देने से लोग आसमान में टकटकी लगाए बैठे कि आखिर कब तक ग्वालियर में वर्षा होनी शुरू होगी। मौसम विभाग द्वारा जारी एडवाइजरी के अनुसार ग्वालियर महानगर में मानसून 22 जून तक आने की बात कही गई थी, लेकिन अब मानसून ओर लेट होता प्रतीत हो रहा है। सोमवार को सुबह से शाम तक आसमान साफ रहा, लेकिन सूर्य के तेज किरणों से धरती तपी भी और लोग गर्मी से बेहाल भी रहे। शाम को पश्चिम दिशा की ओर आसमान में हल्के बादल लोगों को दिखाई दिए, लेकिन देर रात्रि तक लोग वर्षा का इंतजार करते रहे, लेकिन वर्षा नहीं हुई। बीते दो दिन से अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस पर स्थिर बना हुआ है, जो लगभग सामान्य रहा। मौसम विज्ञानियों के अनुसार मंगलवार से पूरे मध्यप्रदेश में वर्षा को दौर शुरू हो जाएगा। इस दौरान ग्वालियर-चंबल संभागों के जिले में कहीं-कहीं वर्षा या गरज-चमक के साथ बौोछारें पड़ने की संभावना है। उड़ीसा के 5.6 किलो मीटर की ऊंचाई पर हवा का चक्रवात बना है। दूसरा चक्रवात पूर्वी उत्तरप्रदेश पर बना हुआ है। इससे वातावरण में नमी आ रही है। मंगलवार-बुधवार को इस सिस्टम की वजह मध्यप्रदेश सहित ग्वालियर-चंबल संभाग में अच्छी वर्षा होने की संभावना है। यह सिस्टम तीन से चार दिन तक सक्रिय रहेगा। मौसम विभाग ने सोमवार को अधिकतम तापमान 39.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया, जो सामान्य था व न्यूनतम तापमान 27.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ, जो सामान्य से 0.7 डिग्री सेल्सियस कम रहा।