लद्दाख में मिसाइलें तैनात, चीनी सेना भारत से सिर्फ 300 मीटर दूर

 28 Jun 2020 02:28 AM  2

जम्मू। लद्दाख सीमा पर युद्ध का खतरा कितना बढ़ गया है इस बात अंदाज इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक महीने के अंदर भारतीय सेना ने तीन डिवीजन सेना को लद्दाख सेक्टर में एलएसी पर तैनात किया है। एक डिवीजन में कम से कम 15 हजार सैनिक होते हैं। भारतीय सेना को यह तैनाती इसलिए करनी पड़ी है, क्योंकि चीनी सेना के हजारों सैनिक करीब 6 विवादित स्थानों पर डेरा जमाए हुए हैं। वहीं कुछ इलाकों में अब दोनों देशों की सेनाएं आमनेसा मने हैं। खबरों के मुताबिक भारतीय सेना की 14वीं कोर, जिसका मुख्यालय लेह में है, सेना की तीन डिवीजन को डीबीओ, चुशूल और दमचोक के बीच आने वाले इलाकों में तैनात कर दिया है। इससे पहले कभी भी इतनी संख्या में भारतीय सैनिकों को लद्दाख सेक्टर में एलएसी पर तैनात नहीं किया गया था। दरअसल चीनी सेना उत्तरी लद्दाख में गलवान घाटी और देपसांग, मध्य लद्दाख में हाट स्प्रिंग्स, पेंगोंग सो और चुशूल तक और दक्षिणी लद्दाख में दमचोक और चुमार के इलाकों में डटी हुई है। सीमा पर चीन के लड़ाकू विमान और हेलिकॉप्टर मंडरा रहे हैं। भारत ने भी एयर डिफेंस मिसाइल तैनात की है।

सीमा पर मंडरा रहे चीनी लड़ाकू विमान

वहीं बताया जा रहा है कि पैंगांग सो लेक के विवादित फिंगर-4 इलाके में अब भारत व चीनी सेनाएं आमनेसा मने हैं। दोनों के बीच दूरी घट कर 300 से 400 मीटर के बीच रह गई है, जो कि काफी नाजुक स्थिति है।