दो महीने में काटे 70 से ज्यादा सागौन के पेड

 18 Jun 2020 03:11 AM  8

भोपाल । भोपाल में हरियाली बढ़ाने के लिए लगातार प्रयास हो रहे हैं और जगह जगह पौधे लगाए जा रहे हैं। वहीं पेड़ों की भी अवैध रूप से कटाई हो रही है। कोलार के कजलीखेड़ा क्षेत्र के कालापानी गांव में बनी मायसिटी कॉलोनी से लगे एक निजी खेत में लगे 70 से अधिक पेड़ों को अवैध रूप से काटने का मामला सामने आया है। ये सभी पेड़ सागौन के हैं और उन्हें कोरोना संक्रमण लॉकडाउन के दौरान भूमिस्वामी ने काट दिए हैं। यही नहीं बीते दिनों उन्होंने जेसीबी की मदद से पेड़ों की जड़ों को भी उखड़वाकर फिकवा दिया है। खास बात तो यह है कि निजी भूमि पर बिना अनुमति पेड़ लगातार काटे जा रहे हैं इसकी भनक न तो जिला प्रशासन के अधिकारियों को लगी और न ही पुलिस को। स्थानीय रहवासियों ने जब इस मामले की शिकायत कोलार पुलिस और वन विभाग के अमले से की तब यह मामला समने आया। वन विभाग ने जांच के बाद रहवासियों को बताया कि निजी भूमि पर लगे पेड़ों को काटा गया है। इस कारण विभाग कारर्वाई नहीं कर सकता है। हालांकि उसने पंचनामा बनाकर एसडीएम कोलार राजेश गुप्ता को भिजवा दिया है। इधर एसडीएम ने भी तहसीलदार के नेतृत्व में एक जांच दल बनाकर उसे गुरुवार को जांच करने के निर्देश दिए हैं।

 इसलिए नहीं दिखाई दिए कटे पेड 

शिकायतकर्ता डॉ. पल्लवी ने बताया कि यह सभी पेड़ एक खेत में थे, सड़क से दिखाई नहीं देते थे। मॉर्निंग वॉक पर जब नजरें कटे हुए पेड़ पर पड़ी तो इसकी शिकातय तुरंत की। अन्य रहवासियों ने भी बताया कि यह कटाई पिछले दो महीने से चल रही है। पेड़ कटवाने वालों ने पिछले सप्ताह जेसीबी बुलाकर इन पेड़ों की जड़ें भी उखड़वा दीं हैं।

बिना अनुमति पेड़ काटे जाने की मिली है शिकायत 

वन विभाग के अमले द्वारा बनाया गया पंचनामा और निजी भूमि से बिना अनुमति पेड़ काटे जाने की शिकायत मिली है। इस मामले की जांच के लिए तहसीलदार के नेतृत्व में टीम गठित कर दी गई है, जो गुरुवार को मौके पर जाकर जांच करेगी। राजेश गुप्ता, एसडीएम, कोलार