ननि ने पीएफ के 25 करोड़ दबाए, खुलासे पर जमा किए पांच करोड़

ननि ने पीएफ के 25 करोड़ दबाए, खुलासे पर जमा किए पांच करोड़

भोपाल। अब नगर निगम में पीएफ घोटाला सामने आया है। दरअसल, निगम ने कर्मचारियों की तनख्वाह से पीएफ की रकम तो काट ली, लेकिन उसे कर्मचारियों के पीएफ एकाउंट में जमा नहीं कराया। इसका खुलासा तब हुआ, जब कई कर्मचारियों को जरूरत पर पीएफ क्लियरेंस नहीं मिला। कर्मचारी पीएफ कार्यालय पहुंचे, तो पता चला कि उनके एकाउंट में डेढ़ साल से पीएफ राशि जमा नहीं हुई। इसके बाद कर्मचारी नेताओं ने हंगामा किया, तो आनन- फानन में पीएफ एकाउंट में राशि डालनी शुरू की गई है। निगम हर महीने 8 से 10 हजार नियमित कर्मचारियों और दैनिक वेतनभोगी श्रमिकों की तनख्वाह से पीएफ की एक निर्धारित राशि काटता है। लेकिन बीते डेढ़ साल से हर महीने राशि तो काटी गई, लेकिन उसे पीएफ एकाउंट में जमा नहीं कराया गया। हाल ही में कर्मचारियों को इसकी जानकारी लगी, तो आयुक्त से लेकर विभागीय मंत्री तक शिकायत हुई। इसके बाद आनन-फानन में पीएफ राशि जमा कराना शुरू किया गया। विभाग से संबंधित एक अधिकारी ने बताया कि आर्थिक तंगी की वजह यह स्थिति बनी है। पीएफ की करीब 25 करोड़ रुपए की राशि बकाया थी, जिसमें से कुछ राशि जमा कराई गई है। जल्द ही पूरी राशि जमा करा दी जाएगी। नोटिस का नहीं दिया जवाब इधर, कर्मचारी भविष्य निधि कार्यालय ने पीएफ राशि जमा न कराने पर निगम को आधा दर्जन से ज्यादा नोटिस दे चुका है, लेकिन निगम ने जवाब नहीं दिया।जब मामले का खुलासा हुआ और शिकायत मंत्री तक पहुंची, तो आनन-फानन में पीएफ राशि जमा कराई गई।

कर्मचारियों के पे स्लिप में दिखाई जा रही कटौती

कर्मचारियों का कहना है कि जब डेढ़ साल से निगम उनका पीएफ एकाउंट में जमा नहीं करा रहा है, तो कटौती क्यों कर रहा है। उन्हें जो पे-स्लिप दी जा रही है, उसमें पीएफ राशि काटी जा रही है। इधर, अधिकारियों का कहना है कि पीएफ काटा जा रहा है, जिसे जमा भी कराया जाएगा। निगम की वित्तीय स्थिति खराब होने की वजह से यह राशि जमा नहीं कराई जा सकी है।

जनवरी 2020 में आया जनवरी 2019 का मैसेज

कर्मचारियों ने बताया कि तनख्वाह से पीएफ राशि कटने के बाद जब राशि पीएफ एकाउंट में डाली जाती है, तो उसका मैसेज आता है। पिछले डेढ़ साल से कोई मैसेज नहीं आया था। लेकिन जनवरी में एक मैसेज आया, जिसके मुताबिक जनवरी 2019 का पीएफ उनके एकाउंट में जमा किया गया। इधर, नियमित कर्मचारियों को जुलाई 2019 तक का पीएफ जमा करने का मैसेज मिला है।