नाजनीन की मौत का मामला हत्या व आत्महत्या में उलझा

suicide

नाजनीन की मौत का मामला हत्या व आत्महत्या में उलझा

ग्वालियर बहोड़पुर थाना इलाके में स्थित सागर ताल में बीते रोज मिले युवती के शव को लेकर पुलिस उलझ गई है, कि उसने आत्महत्या की है, अथवा उसकी हत्या की गई है, क्योंकि मृतका का प्रेमी भी गायब है तथा उसके परिजन युवती के परिजनों पर दोनों की हत्या किए जाने का आरोप लगा रहे हैं, जिससे पुलिस फिलहाल मामले की पड़ताल में जुटी हुई है। उल्लेखनीय है कि जलाल खां की गोठ में रहने वाली 23 वर्षीय नाजनीन सोमवार दोपहर अचानक घर से गायब हो गई थी, जिसकी रात में परिजनों द्वारा इंदरगंज थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाने के साथ ही लक्कड़खाना निवासी राजा खां नामक युवक से नाजनीन की बातचीत होने की बात कहते हुए उसका मोबाइल नंबर भी दिया था, जबकि अगले दिन ही नाजनीत का शव सागर ताल में पड़ा मिला था। इस घटना की सूचना पाकर पहुंचे राजा के परिजनों का कहना है कि उसका तथा नाजनीन का लंबे समय से अफेयर चल रहा था, जिसे लेकर नाजनीन के परिजनों को आपत्ति थी तथा उन्होंने उसे जान से मारने की धमकी दी थी। नाजनीन के साथ ही राजा भी गायब है, जिसके परिजनों द्वारा नाजनीन की परिजनों पर उसकी तथा राजा की हत्या कर सागर ताल में फेंकने का आरोप लगाया है। जिससे पुलिस अब मामले की पड़ताल में जुट गई है, कि नाजनीन ने आत्महत्या की है अथवा किसी ने उसकी हत्या की है।

चार घंटे की मशक्कत के बाद भी नहीं मिला

शव राजा के परिजनों द्वारा नाजनीन के साथ ही उसकी हत्या कर शव सागरताल में फेंके जाने की आशंका जताने के बाद पुलिस अब राजा की तलाश में जुट गई है, जिसके चलते बुधवार को गोताखोरों द्वारा लगभग चार घंटे तक सागर ताल में राजा की तलाश हेतु मशक्कत की गई, लेकिन फिलहाल उसका कुछ पता नहीं चल सका है। युवक के परिजनों द्वारा सागरताल में उसे मारकर फेंके जाने की आशंका जताई है, जिस पर गोताखोरों की मदद से उसकी तलाश की गई, लेकिन फिलहाल उसका कोई पता नहीं लग सका है।

सागरताल को किया लॉक
सुसाइड पॉइंट के रूप में विख्यात हुए सागर ताल में कुछ समय पूर्व भी प्रशासन द्वारा फेंसिंग लगाई गई थी, लेकिन धीरे-धीरे यहां के कुछ स्थानों से फेंसिंग लोगों द्वारा हटा दी गई, जिससे अब फिर लोग यहां सुसाइड करने पहुंचने लगे हैं। इसे देखकर प्रशासन ने बुधवार को एक बार फिर बैरिकेट्स लगाकर तथा वेल्डिंग करवाकर इसे पूरी तरह से ब्लॉक कर दिया है, जिससे कोई भी इसके भीतर प्रवेश नहीं कर सके।