246 परिवारों के 2178 पात्र श्रमिकों को नहीं मिला दो माह का राशन खाने के पड़े लाले

 23 Jun 2020 01:54 AM  4

जबलपुर । शासन ने लॉकडाउन में हितग्राहियों को तीन माह का राशन फ्री देने की घोषणा की थी। लेकिन अभी भी हितग्राहियों को दो माह का ही राशन दिया गया है। बल्कि जून माह का राशन नहीं दिया गया है। यहीं हाल बाहर से आए प्रवासी मजदूरों का है जिन्हें शासन के निर्देश पर दो माह का 10 किलोग्राम गेहूं और 2 किलोग्राम चना राशन दुकानों से वितरित करना है। परंतु अभी भी राशन दुकानों में प्रवासी मजदूरों को मिलने वाला अनाज और जून माह का हितग्राहियों को मिलने वाला अनाज आवंटित नहीं किया गया है। कलेक्टेट में भी आए-दिन राशन न मिलने और पात्रता पर्ची बनवाने के लिए लोगों की भीड़ लग रही है। गौरतलब है कि जिले में प्रवासी श्रमिकों के 246 परिवारों के 2178 सदस्य है,जो दूसरे जिलों से लॉकडाउन की अवधि में आए हुए पात्र हितग्राही है। जिन्हे शासन के निर्देश पर दो माह का राशन वितरित किया जाना है। परंतु अभी तक राशन का वितरण नहीं हुआ है जिसके कारण प्रवासी श्रमिक परेशान है और खाने के लाले पड़ हुए हैं।

2 सौ दुकानों में नहीं पहुंचा राशन

जिले में 994 राशन की दुकानें हैं, जिसमें से पाटन,पनगार और शहर की कुछ राशन दुकानें मिलाकर करीब दो सौ दुकानें ऐसी हैं, जिसमें से खाद्य सामग्री पर्याप्त मात्रा में नहीं पहुंच पा रहीं हैं। जिसके कारण इन दुकानों से मिलने वाले राशन से सैकड़ों उपभोक्ता वंचित हैं। लिहाजा प्रशासन ऐसी दुकानों में खाद्य सामग्री मुहैया कराने में जुटा हैं।

नगना राशन दुकान आए दिन रहती है बंद

पनागर तहसील के नगना ग्राम स्थित राशन दुकान आए दिन बंद रहती है जिसके वहां के हितग्राहियों को तीन माह का राशन नहीं वितरित किया गया। लिहाजा ऐसे में विगत दिनों ग्रामवासियों ने राशन दुकान का घेराव कर विरोध प्रदर्शन किया था।