ओलिम्पिक रद्द करने के बजाए एक और स्थगन हो सकता है विकल्प

 17 Jun 2020 12:54 AM  4

टोक्यो। टोक्यो 2020 के बोर्ड सदस्य हारुयुकि ताकाहाशी ने कहा है कि यदि कोरोना वायरस महामारी की स्थिति में सुधार नहीं होता है तो पहले से ही स्थगित ओलिम्पिक को रद्द करने के बजाए इसे फिर स्थगित करना एक और विकल्प हो सकता है। जापानी मीडिया ने यह खबर दी है। जापानी सरकार और अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (आईओसी) ने कोरोना के कारण मार्च में ओलिम्पिक को जुलाई 2021 तक स्थगित करने का फैसला किया था। टोक्यो ओलम्पिक इस साल 24 जुलाई से शुरू होने थे लेकिन इनका आयोजन 23 जुलाई 2021 से किया जाएगा। आईओसी अध्यक्ष थामस बाक ने कहा है कि यदि ओलिम्पिक अगले साल नहीं हो पाते हैं तो इन्हें रद्द कर दिया जाएगा, लेकिन ताकाहाशी का कहना है कि इन खेलों को रद्द करने का बड़ा आर्थिक प्रभाव पड़ेगा। ताकाहाशी ने कहा, ‘‘खेलों को रद्द करने का जापान और विश्व अर्धव्यवस्था पर गहरा प्रभाव पड़ेगा और खेलों को रद्द करने से पहले इन्हें एक और बार स्थगित करने पर विचार किया जा सकता है। टोक्यो 2020 के अध्यक्ष योशिरो मोरी ने आयोजन समिति के कार्यकारी बोर्ड की शुक्रवार को हुई बैठक में कहा था कि खेलों को रद्द करने के बारे में आईओसी से कोई विचार नहीं किया गया है।

कतर में नया स्टेडियम कोरोना योद्धाओं को समर्पित

दोहा। वर्ष 2022 के फीफा विश्व कप फुटबॉल टूर्नामेंट के मेजबान कतर ने नए स्टेडियम को वर्चुअल प्रेजेंटेशन में पेश किया और इसे कोविड-19 महामारी से लड़ रहे कोरोना योद्धाओं को समर्पित कर दिया। 40 हजार दर्शकों की क्षमता वाला एजुकेशन स्टेडियम ‘रेगिस्तान में हीरे’ के आकार का है और विश्व कप के लिए पूरा होने वाला तीसरा स्टेडियम है। विश्व कप के लिए पांच और स्टेडियम को पूरा होना है। 40 हजार दर्शकों की क्षमता वाला अल रयान स्टेडियम और 60 हजार दर्शकों की क्षमता वाला अल बायत स्टेडियम इस साल के अंत तक पूरा होना है। फीफा के अध्यक्ष जियानी इनफेंटिनो ने इस अवसर पर कहा कि एजुकेशन सिटी में नया स्टेडियम यह याद दिलाता है कि फुटबॉल वापसी करेगा और इसमें पहले से ज्यादा जुनून होगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि वह समय जल्द आएगा जब फुटबॉल मैचों को देखने के लिए दर्शक मौजूद रहेंगे।

फुटबॉलरों ने ऑनलाइन चंदा जुटाकर की मदद

आइजॉल। मिजोरम के पेशेवर फुटबॉलर खिलाड़ियों ने 18 वर्षीय एच लालवेनमावी के परिवार की सहायता के लिये राज्य के मोबाइल गेमर्स के साथ चैरिटी प्रदर्शनी मैच में हिस्सा लिया। लालवेनमावी का पिछले सप्ताह निधन हो गया था। वह राज्य में कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर राज्य में लॉकडाउन को सफल बनाने की दिशा में काम कर रहे थे। ऑनलाइन गेमिंग इवेंट में हिस्सा लेने वाले 31 फुटबॉल पेशेवरों में शामिल भारतीय टीम के स्ट्राइकर जेजे लालपेखलुआ ने कहा कि मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए सभी को एक दूसरे की मदद करने की आवश्यकता है। मिजोरम में कई वर्षों से राहत कार्यों में जुटे जेजे ने कहा, ‘‘मेरे हिसाब से हर एक व्यक्ति को एक दूसरे की मदद के लिए आगे आना चाहिए। इससे फर्क नहीं पड़ता कि कौन कहां से हैं और किसके पास क्या है।