एक की मौत, होटल का लाउंड्री मैन सहित चार फिर मिले पॉजिटिव

 28 Jun 2020 11:14 PM  3

ग्वालियर। कोरोना को लेकर रविवार का दिन शहर के लिए अच्छा नहीं रहा है, इस दिन एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत हो गई है। इसके साथ ही चार संक्रमित भी निकले, इसी के चलते संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 354 पहुंच गई है। रविवार की दोपहर को जिस महिला की मौत हुई है वह घासमंड़ी निवासी आगनड़बाड़ी कार्यकर्ता हैं। 50 वर्षीय यह महिला 25 जून को पॉजिटिव निकली थी। इसके बारे में जानकारी देते हुए सुपरस्पेशलिटि की अधीक्षक डॉ. जीएस गुप्ता ने बताया कि महिला को डायबिटीज की समस्या थी इसके साथ ही उसे लंग्स में इंफेक्शन हो गया था इसको आईसीयू के बाद के बाद वेंटिलेटर पर भी रखा गया था, दोपहर में इसकी मौत हो गई। प्रशासनिक आंकाड़ों के मुताबिक यह कोरोना से जिले में तीसरी मौत हैं और 276 मरीज कोरोना की जंग जीतकर घर भी पहुंच चुके हैं। अब अगर रविवार को कोरोना संक्रमित की हिस्ट्री की बात की जाए तो सिटी सेंटर स्थित एक होटल का लाउंड्री मैन पॉजिटिव निकला है। यह रिपोर्ट आने से पहले तक काम करता रहा। इसके साथ ही समाधिया कॉलोनी से जिस व्यक्ति को कोरोना निकला है उसके बेटे के कॉलोनी में गारमेंट्स की दुकान हैं। पटेल नगर से जो महिला जांच रिपोर्ट में संक्रमित निकली है और और मुरार पिंटो पार्क से भी जो महिला पॉजिटिव पाई गई है उसका बेटा हाल ही में पॉजिटिव निकला था।

पूल सेंपलिंग में एक हजार से अधिक के सेंपल लिए

पूल सेंपलिंग में हर रोज करीब एक हजार संदिग्ध मरीजों के सेंपल लिए जा रहे हैं, रविवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने विभिन्न जगह से 1048 मरीजों के सेंपल लिए गए है। जिला अस्पताल की एमएमयू टीम पूल और कॉन्टेक्ट हिस्ट्री के लिए गुड़ागुड़ी का नाका, कांच मिल , दुग्ध संघ, अपोलो हॉस्पिटल पहुंचे । इसक टीम ने 505 से अधिक सेंपल लिए दूसरी टीम ने भी भी 500 से अधिक के सेंपल सहित कुल 1280 संदिग्ध मरीजों के सेंपल जांच के लिए भेजे गए हैं।

किल कोरोना अभियान को लेकर दिया प्रशिक्षण 
एक जुलाई से शुरू होने वाले किल कारोना अभियान को लेकर रविवार को  जिला एवं ब्लॉक स्तरीय मास्टर ट्रेनरों का प्रशिक्षण कार्यक्रम कलेक्ट्रेट में आयोजित हुआ। सीएमएचओ डॉ. वीके गुप्ता ने बताया कि  जिनकों ट्रेनिंग दी गई है वह  मास्टर ट्रेनर अब शहरी क्षेत्र ग्वालियर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में गठित सर्वे दलों को 29 एवं 30 जून को प्रशिक्षण देंगे, ताकि उक्त अभियान सफलता पूर्वक संपन्न हो सके। इसके साथ ही सर्वे दल गठित किया गया है जिसमें  में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा कार्यकर्ता, एएनएम आदि को सम्मलित किया है। साथ सुपरवाईजरों को भी उक्त अभियान की मोनीटरिंग के लिए तैनात किया  है । इंसीडेंट कमांडरों की देखरेख में संचालित होगा , इस अभियान में दल घर-घर जाकर बुखार, सर्दी ,जुकाम आदि की जानकारी लेंगे तथा आवश्यकतानुसार फीवर क्लीनिकों में रेफर करेंगे, जिससे, कोविड-19, मलेरिया,  डेंगू आदि के मरीजों की जानकारी प्राप्त कर उनका उपचार किया जाएगा।