सभी विधायकों को ऑक्सीमीटर और थर्मल गन से गुजरना होगा

 18 Jun 2020 01:24 AM  4

भोपाल ।  राज्यसभा चुनाव को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। विधानसभा के सेंट्रल हॉल में 19 जून को रिक्त तीन सीटों के लिए मतदान होगा। भाजपा से दो और कांग्रेस से दो उम्मीदवार चुनाव मैदान मे हैं। वरीयता के हिसाब से विधायक अपने वोट का इस्तेमाल मतपत्र के जरिए कर सकेंगे। भाजपा ने प्रथम वरियता में ज्योतिरादित्य सिंधिया और दूसरी वरियता में डॉ. सुमेर सिंह सोलंकी को रखा है। वहीं कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह के पहले और फूल सिंह बरैया को दूसरी वरीयता दी है। एक राज्यसभा सदस्य के चुनाव के लिए 52 विधायकों की जरूरत होगी। इस तरह मप्र में भाजपा से सिंधिया और सोलंकी तथा कांग्रेस से दिग्विजय सिंह का राज्यसभा में जाना तय है। मतदान के दौरान विधायकों को नो-कोविड कॉन्टेक्ट डिक्लेरेशन भी देना होगा। कोरोना पीड़ित विधायक कुणाल चौधरी का वोट डाकमत पत्र से डाला जाएगा। विधायकों को ऑक्सीमीटर और थर्मल गन से गुजरना होगा।

विशेष पर्यवेक्षक ने किया निरीक्षण

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा नियुक्त विशेष पर्यवेक्षक टीआर मीना ने बुधवार को राज्यसभा के लिए रिटर्निग ऑफिसर एपी सिंह के साथ मतदान स्थल का निरीक्षण किया। विस पीएस सिंह ने मतदान के दौरान विधायकों तथा चुनाव प्रक्रिया से जुडे अमले को कोरोना संक्रमण से बचाव के बारे में विशेष पर्यवेक्षक को अवगत कराया।

ऐसे होगी मतदान व्यवस्था

एक-एक विधायक को वोट डालने की अनुमति दी जाएगी। ज्यादा विधायक आने पर सभी को हॉल में कुर्सियों पर बैठाया जाएगा। मैन गेट से भी एक-एक विधायक को प्रवेश देने की व्यवस्था की गई है।

विधायकों को ही प्रवेश

चुनाव के दौरान गेट से एंट्री सिर्फ ड्यूटी में लगे कर्मचारियों और विधायकों को ही दी जाएगी। इसके अलावा सभी विधानसभा सदस्यों के निज सहायक, ड्राइवर, गनमैन और अन्य स्टाफ को विधानसभा के बाहर रुकने की व्यवस्था की जाएगी।