प्रोजेक्ट को मंजूरी: मुंबई-पुणे के बीच साढ़े 3 घंटे का सफर 23 मिनट में होगा

प्रोजेक्ट को मंजूरी: मुंबई-पुणे के बीच साढ़े 3 घंटे का सफर 23 मिनट में होगा

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने मुंबई और पुणे के बीच एक अल्ट्रा फास्ट हाइपरलूप के प्रोजेक्ट को बुधवार को हरी झंडी दे दी है। मुंबई- पुणे हाइपरलूप एक अल्ट्रा मॉडर्न तकनीक वाला सुपरफास्ट परिवहन प्रोजेक्ट होगा, जिसके जरिए दोनों शहरों को जोड़ा जाएगा। यह प्रोजेक्ट जैसे ही पूरा होगा, मुंबई और पुणे के बीच की करीब 200 किमी की दूरी तय करने में अंदाजन सिर्फ 23 मिनट का समय लगेगा, जिसे तय करने में अभी ट्रेन से 3 से 4 घंटे तक लगते हैं। ये संभव होगा क्योंकि हाइपरलूप ट्रेन मुंबई के बीकेसी यानी बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स से शुरू होगी और पुणे के वाकड़ तक जाएगी, यानी करीब 117.5 किमी का सफर तय करेगी। ये ट्रेन 496 किमी प्रति घंटे की रμतार तक दौड़ सकेगी।

2023 तक होगा काम पूरा

एफडीआई के तहत इस पूरे प्रोजेक्ट के लिए 70 हजार करोड़ का निवेश होगा। चूंकि यह जनता से जुड़ा इन्फ्रा प्रोजेक्ट है इसलिए वर्जिन के अलावा दूसरी कंपनियां भी इसके लिए प्रस्ताव दे सकेंगी और ठेके दिए जाने की व्यवस्था होगी। हाइपरलूप प्रोजेक्ट जैसे ही शुरू होगा, तबसे करीब 7 साल का समय इसे तैयार होने में लगेगा। वर्जिन इस साल के आखिर से पहले फेज का काम शुरू कर सकती है और पहले फेज का काम 2023 तक पूरा होने के आसार हैं। हाइपरलूप ट्रेन के लिए एक सुरंगनुमा रास्ता बनाया जाएगा ताकि ट्रेन हवा का दबाव न होने की वजह से तेज रμतार से दौड़ सके।