प्रवासी मजदूरों को कराएं योग्यता के मुताबिक रोजगार मुहैया

प्रवासी मजदूरों को कराएं योग्यता के मुताबिक रोजगार मुहैया

जबलपुर । सम्भाग के जिलों में आ रहे प्रत्येक प्रवासी मजदूर को उनकी योग्यता के मुताबिक रोजगार में स्थापित किया जाए । उन्होनें कहा कि प्रवासी श्रमिक और कर्मियों के संबंध में सर्वे कर उनकी कार्य की योग्यता का आंकलन किया जाए। क्योंकि जो लोग जिलों मे वापस लौट रहे है, उनमें अलग-अलग तरह की योग्यताएं है। यह निर्देश सम्भागायुक्त महेशचंद्र चैधरी ने जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए दिए। उन्होंने कहा प्रवासी श्रमिक को गांव, विकासखण्ड और जिला मुख्यालय सहित जिले से बाहर जहां भी उनके लिए उचित रोजगार के अवसर मिले वहां नियोजित कराना है। सम्भागायुक्त ने नवाचार के साथ ठोस और व्यवहारिक कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा योजना बनाने में जनप्रतिनिधियों, रोजगार, उ़द्योग विभाग तथा रोजगार नियोजन से जुड़े विषेषज्ञों की सलाह और सेवाएं ली जाएं। सम्भागायुक्त ने कहा जिलों में मनरेगा और अन्य योजनाओं में बड़ी संख्या में श्रमिकों को रोजगार मिला है। उन्होंने मनरेगा के कार्यो में साथ नियोजित श्रमिकों की जानकारी ली। सम्भागायुक्त ने बताया कि राज्य स्तर की समीक्षा में ग्रामीण विकास के लिये जबलपुर सम्भाग में हो रहे कार्यो और प्रयासों को सबसे अच्छा आंका गया है। उन्होंने कहा कि इसे कायम रखा जाये। योजनाओं के अंतर्गत निर्माण कार्यो को षीघ्र पूर्ण किया जाए। ग्रामीण विकास में नदी पुनर्जीवन योजना के बेहतर क्रियान्वयन की जरूरत रेखांकित करते हुए सम्भागायुक्त ने कहा कि ग्रामीणों को इस कार्य में जोड़कर बहुवर्षीय कार्ययोजना अमल में लाई जाए। सम्भागायुक्त ने कहा कि कपिलधारा योजना के अंतर्गत प्रत्येक कार्य का तकनीकी मूल्यांकन करा कर उसे पूरा किया जाए । उन्होंने आंगनबाड़ी भवन निर्माण की समीक्षा की । सभी षालाओं में किचिन षेड निर्माण को पूरा करने के निर्देश दिए गए। मुख्य कार्यपालन अधिकारियों ने बताया कि महिला स्वसहा यता समूहों द्वारा बड़ी संख्या में मास्क बनाकर कोविड संक्रमण की रोकथाम में उल्लेखनीय योगदान दिया गया है। बैठक में सम्भागायुक्त कार्यालय में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रियंक मिश्र, संयुक्त आयुक्त अरविन्द यादव तथा अन्य अधिकारी मौजूद थे।