शिकायतों का निराकरण एल-1 के बजाए एल-4 पर होने से कुलसचिव नाराज

 26 Jun 2020 12:26 AM  3

ग्वालियर।  जेयू के कुलसचिव ने सीएम हेल्पलाइन पर दर्ज होने छात्र-छात्राओं की शिकायतों का निराकरण करने में लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों को नोटिस देने के निर्देश दिए हैं। जेयू से संबद्ध कॉलेजों में पढ़ने वाले परीक्षा संबंधी शिकायतों के निराकरण के लिए सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत दर्ज करा रहे हैं, लेकिन शिकायतों का निराकरण एल-1 से लेकर एल-3 स्तर नहीं किया जा रहा हैं, लेकिन शिकायतें एल-4 पर पहुंचती हैं तो शिकायत का निराकरण कर दिया जाता है। कुलसचिव ने जिम्मेदार अधिकारियों से पूछा है कि जिन शिकायतोें का निराकरण एल-1 स्तर पर हो सकता है तो उसे आगे क्यों बढ़ने दिया जाता है? एल-4 स्तर पर शिकायत के पहुंचते ही शिकायत का निराकरण तत्काल कर दिया जाता है। इसे लेकर कुलसचिव ने नाराजगी जताते हुए सहायक कुलसचिव प्रशासन को जिम्मेदार लोगोें को कारण बताओ नोटिस देने के निर्देश दिए हैं। कर्मचारियों के जवाब संतोषजनक नहीं आने पर कार्रवाई की जाएगी। कुलसचिव ने विवि में नहीं आने वाले कर्मचारियों की सूची तैयार करने को कहा है। कर्मचारियों के वेतन काटने की कार्रवाई की जाएगी।

दैवेभो कर्मचारियों को स्थाई करने की मांग

जेयू में वर्ष 2007 के बाद से कार्यरत दैनिकभोगी कर्मचारियों को स्थाई करने की मांग उठी है। इसे लेकर जेयू के कर्मचारी नेता राकेश गुर्जर, अरविंद भदौरिया और राजेश नायक गुरुवार को कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला के पास पहुंंचे और कर्मचारियों को स्थाई करने की मांग की। सीएम हेल्पलाइन पर दर्ज होने वाली जिन शिकायतों का निराकरण एल-1 स्तर हो सकता है, उसका निराकरण एल-4 पर किया जा रहा है। इसके लिए दोषी कर्मचारियों को नोटिस देने के निर्देश दिए हैं।