सिंधिया, सोलंकी पहली बार पहुंचे राज्यसभा, दिग्विजय की दूसरी पारी

 20 Jun 2020 03:07 AM  2

 भोपाल । राज्यसभा की 3 सीटों पर हुए चुनावों में भाजपा से ज्योतिरादित्य सिंधिया और सुमेर सिंह सोलंकी विजयी हुई। कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह एक बार फिर राज्यसभा सांसद के लिए निर्वाचित हुए। मतदान में बसपा, सपा और निर्दलीय विधायकों ने भाजपा के पक्ष में वोट किया। भाजपा विधायक जुगल किशोर बागरी का वोट रद्द हो गया। एक अन्य भाजपा विधायक गोपीलाल जाटव का क्रॉस वोट कराया गया। उधर, पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा कि भाजपा ने सौदेबाजी से दूसरी सीट जीती है। इसके जवाब में मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा- कोई जोड़तोड़ नहीं की, बल्कि कांग्रेस ने दलितों का अपमान किया। इससे पहले सुबह 9 बजे से शुरू हुए मतदान में पहला वोट मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने डाला। इसके बाद भाजपा और कांग्रेस के विधायकों ने अपने वोट डाले।

पीपीई किट में पहुंचे कुणाल चौधरी 

कांग्रेस विधायक कुणालचौधरी कोरोना पॉजिटिव हैं। वे पीपीई किट में वोट डालने सबसे बाद में पहुंचे।

मप्र के वर्तमान राज्यसभा सदस्य :

थावरचंद गहलोत , एमजे अकबर ,विवेक तन्खा , सम्पतिया उइके , धर्मेन्द्र प्रधान , अजय प्रताप सिंह ,कैलाश सोनी,राजमणि पटेल।

भाजपा के समर्थन पर सपा ने विधायक को निष्कासित किया

राज्य सभा चुनाव में भाजपा के समर्थन में वोट देने के कारण सपा ने बिजावर से एकमात्र विधायक राजेश शुक्ला को पार्टी से निष्कासित कर दिया। इस कार्रवाई पर विधायक शुक्ला ने कहा कि वोट देने को लेकर मुझे पार्टी नेतृत्व से कोई निर्देश नहीं मिले थे। मैंने अंतरात्मा से भाजपा को वोट दिया। भाजपा में शामिल होने के बारे में कहा कि फिलहाल कोई निर्णय नहीं, आगे देखते हैं क्या होता है?

भाजपा ने सौदेबाजी से प्रदेश की सत्ता हासिल की 

भाजपा ने सौदेबाजी से प्रदेश की सत्ता हासिल की। 24 सीटों पर होने वाले चुनाव में उन्हें इसका जवाब मिलेगा। हम 24 में से लगभग 21 से 22 सीट हर हाल में जीतेंगे। -कमल नाथ

 कांग्रेस को अपने विधायकों पर भरोसा नहीं है

कांग्रेस विधायक बस में एक साथ इसलिए लाए गए, क्योंकि उन्हें अपने विधायकों पर भरोसा नहीं है। इसीलिए उनके विधायकों ने सरकार पर भरोसा नहीं किया। -नरोत्तम मिश्रा, गृहमंत्री