मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी में ‘लुक आफ्टर’ की आड़ में जूनियरों को दिया जा रहा सीनियर का प्रभार

 21 Jun 2020 01:01 AM  10

भोपाल। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी में सीनियरिटी को दरकिनार कर जूनियर को सीनियर की सीट पर बिठाने के लिए सीधे-सीधे प्रभार देने के बजाय लुक आफ्टर का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसमें जूनियर को स्थानांतरण करते हुए आदेश के नीचे लिखा जा रहा है कि सीनियर पोस्ट लुक आफ्टर, यानी सीनियर पोस्ट का कामकाज संभालेंगे। इससे आफिस का डेकोरम बिगड़ने के साथ फील्ड वर्क प्रभावित हो रहा है और शिकायतें बढ़ रही हैं। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट में राज्य सरकार की अपील के कारण 2016 से प्रमोशन बंद हैं। नतीजे में वरिष्ठ अफसरों के रिटायर होने या ट्रांसफर होने की स्थिति में खाली होने वाले वरिष्ठ पदों पर जूनियरों को वरिष्ठता सूची के अनुसार प्रभार दिया जाता है, लेकिन इसका पालन मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी में नहीं हो रहा है। इधर, जीएडी के स्पष्ट निर्देश हैं कि प्रभार देने में वरिष्ठता और योग्यता का ध्यान रखा जाए। बावजूद विद्युत वितरण कंपनी में कई पायदान नीचे के इंजीनियर को वरिष्ठ पद का प्रभार दिया जा रहा है। इसके लिए सीधे-सीधे प्रभार देना आदेश में नहीं लिखा जाता, बल्कि अधिकारी के नाम के आगे सीनियर पोस्ट लिखते हुए लुक आफ्टर लिखा जाता है। यानी एक जूनियर इंजीनियर अपने से 30-40 पायदान ऊपर सीनियर पोस्ट को संभालेगा। मप्र विद्युत मंडल के पूर्व अधीक्षण यंत्री आरजे सक्सेना का कहना है कि लुक आफ्टर का इस्तेमाल होता है, क्योंकि प्रमोशन नहीं हो रहे। लेकिन इसमें वरिष्ठता का ध्यान रखना चाहिए। जूनियर मोस्ट को सीनियर के ऊपर बिठाने से कामकाज प्रभावित होता है।