एसपीजी हटने के बाद सोनिया को मिली 10 साल पुरानी टाटा सफारी

एसपीजी हटने के बाद सोनिया को मिली 10 साल पुरानी टाटा सफारी

नई दिल्ली। सुरक्षा व्यवस्था में हाल ही में हुए बदलाव के बाद गांधी परिवार को 10 साल पुरानी टाटा सफारी और जेड प्लस सुरक्षा दी गई है। मंगलवार को संसद में कांग्रेस ने इस मामले को उठाया और पीएम मोदी से सुरक्षा व्यवस्था में किए गए बदलाव पर जवाब मांगा। नवंबर की शुरुआत में ही गांधी परिवार से स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) कवर हटा दिया गया था और उन्हें जेड प्लस सिक्योरिटी दी गई थी। जेड प्लस सिक्योरिटी में 10 एनएसजी कमांडो के अलावा सीआरपीएफ और स्थानीय पुलिस कुल 55 जवान होते हैं। 1991 में श्रीलंकाई आतंकवादी समूह ने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या कर दी थी। इसके बाद से गांधी परिवार को एसपीजी कवर दिया गया था। हाल ही में केंद्र सरकार ने सुरक्षा की समीक्षा करने के बाद गांधी परिवार से एसपीजी कवर हटा दिया था।

सीआरपीएफ ने सुरक्षा के लिए मांगी नई बटालियन और बुलेट प्रूफ गाड़ियां

गांधी परिवार और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह व उनकी पत्नी की एसपीजी सुरक्षा वापस लिए जाने के बाद इनकी सुरक्षा की कमान सीआरपीएफ को सौंप दी गई है। सीआरपीएफ अधिकारियों के मुताबिक इस नई सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को न्यू सिक्योरिटी प्रोटोकॉल्स से संबंधित चिट्ठी लिखी गई है। सीआरपीएफ ने इस नई जिम्मेदारी के चलते एक नई बटालियन बनाए जाने और विशेष बख्तरबंद वाहनों की भी मांग रखी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के माध्यम से सीआरपीएफ ने राज्य और केंद्र शासित प्रदेश सरकारों को लिखे पत्र में बताया है कि गांधी परिवार को एडवांस सिक्योरिटी लायसन (एएसएल) प्रोटोकॉल के तहत सुरक्षा दी गई है। इसके लिए स्थानीय खुफिया के सहयोग की जरूरत होगी।