बाजार, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में किया जा रहा सेनेटाइजर का छिड़काव, दिनभर चली सफाई

बाजार, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में किया जा रहा सेनेटाइजर का छिड़काव, दिनभर चली सफाई

भोपाल। कोरोना वायरस के चलते शहर के शनिवार को सार्वजनिक स्थलों को सेनेटाइज करने का काम शुरू कर दिया गया है। बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, बस स्टॉप, बाजारों की गलियों के अलावा ट्रेनों में भी सेनेटाइजर का छिड़काव किया गया। इधर सरकारी अस्पताल के स्वास्थ्य कर्मचारियों और डॉक्टरों के अवकाश निरस्त कर दिए हैं। जेपी और हमीदिया की ओपीडी रविवार को भी खुलेगी। इधर कोरोना वायरस का असर फूड डिलीवरी कंपनियों पर भी पड़ रहा है। ग्राहकों ने कुछ दिनों से ऑनलाइन फूड के ऑर्डर कम कर दिए हैं। शहर में ऑनलाइन फूड डिलीवरी पर 90 प्रतिशत तक की गिरावट आई है। भरोसा दिलाने में जुटीं कंपनियां ऑनलाइन फूड डिलीवरी से जुड़ी कंपनियां भरोसा जीतने के लिए ग्राहकों को ई-मेल कर रही हैं। ई-मेल में डिलीवरी मैन द्वारा मास्क, सेनेटाइजर के इस्तेमाल की जानकारी दी जा रही है। ये कंपनियां, रेस्टोरेंटों में भी सावधानी बरते जाने की गारंटी दे रही हैं। वे ग्राहकों को ऑनलाइन भुगतान की सलाह दे रही हैं। 200 रु. कमाना मुश्किल ऑनलाइन फूड डिलीवरी बॉय अजय कहते हैं कि हम लोग 13-14 घंटे काम करके 400-600 रुपए बचत निकालते थे, लेकिन पिछले कुछ दिनों से हम लोग अब 200 रुपए भी नहीं निकाल पा रहे हैं। स्वीगी में फूड डिलीवरी करने वाले अलीम ने बताया कि 20 दिनों में ऑडर्स की संख्या में 80 प्रतिशत तक की गिरावट आई है।

एसी कोच में अब कंबल की जगह मिलेगी चादर

भोपाल रेल मंडल के प्रवक्ता आईए सिद्दीकी ने बताया कि मंडल से शुरू होने वाली ट्रेनों के कोच कैनन स्मोक जेनरेटर से सेनेटाइज किये जा रहें है। ट्रेनों के हैंडल सीट कवर और वॉश बेसिन को भी सेनिटाइज किया जा रहा है। एसी कोच में सफर करने वाले यात्रियों को कंबल की जगह अतिरिक्त चादर दी जा रही है, इसके अलावा कोच का तापमान भी बढ़ाया जा रहा है। क्योंकि कंबल 15 दिन तक नहीं धुलते इससे संक्रमण का भी खतरा बढ़ता है। बात दें कि भोपाल एक्सप्रेस सहित भोपाल-प्रतापगढ़, अमरकंटक एक्सप्रेस, रेवांचल एक्सप्रेस, हमसफर एक्सप्रेस, गरीब रथ, जनशताब्दी, इंटरसिटी समेत दर्जन भर ट्रेनों को सेनेटाइज किया गया।

आंगनबाड़ी के बच्चों को घर पर मिलेगा पोषण

कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने सभी एसडीएम को कोरोना वायरस से बचाव सावधानी और सुरक्षा की दृष्टि से शांति समिति की बैठक आयोजित करने के निर्देश दिए हैं। ताकि शहर में जागरूकता अभियान चलाया जा सके। कलेक्टर ने यातायात अमले और आरटीओ को निर्देशित किया है कि बाहर से आने वाले ट्रकों ,बसों के ड्राइवर और कंडक्टर को भी सेनिटाइज रहने और परीक्षण किया जाए। सिटी बसों को सैनिटाइज करने को कहा है। उन्होंने आंगनबाड़ी केंद्र के बच्चों को बच्चों के वजन और उनको मिलने वाले पोषण आहार को उनके घरों में वितरित करने के निर्देश भी दिए हैं। सिनेमाघरों में भीड़ एकत्रित नहीं किए जाने को कहा है।