थमा जन, ठहरा जीवन

थमा जन, ठहरा जीवन

भोपाल। राजधानी सहित पूरे मप्र में पिछले 48 घंटों से ज्यादा वक्त से बारिश जारी है। प्रशासन हाई अलर्ट पर है। राजधानी भोपाल में पिछले 24 घंटों में 5 इंच से ज्यादा बारिश दर्ज की गई। बारिश के चलते भोपाल, बैतूल, नर्मदापुरम, राजगढ़, रायसेन और सीहोर के स्कूल बंद कर दिए गए। प्रदेश में बारिश का 10 साल का रिकॉर्ड टूटा है। अब तक 30 इंच से ज्यादा बारिश हो चुकी है। इससे पहले 2013 में 24 इंच बारिश हुई थी। सीजन में सबसे ज्यादा 46 इंच बारिश बैतूल में हुई है। श्योपुर, नीमच, गुना, राजगढ़, आगर-मालवा, सीहोर, इंदौर, हरदा, खंडवा, बैतूल, छिंदवाड़ा, सिवनी और नर्मदापुरम में 30 से 75% तक ज्यादा पानी गिर चुका है।

हलाली डैम ओवरμलो, भोपाल के 50 गांव जलमग्न, 19 से 23 के बीच एक और दौर

भोपाल में 16 अगस्त तक औसतन 634.1 मिमी बारिश होती है, जबकि इस सीजन में अब तक 1228.4 मिमी बारिश हो चुकी है। यह औसत से 94%ज्यादा है। लगातार 3 दिन की बारिश से रायसेन का हलाली डैम ओवरμलो हो गया। इससे भोपाल के 50 से अधिक गांवों का मुख्यालय से संपर्क कट गया है। बंगाल की खाड़ी में बन रहे कम दबाव के क्षेत्र के कारण पूर्व और मध्य मप्र में 19 से 23 अगस्त के बीच बारिश का एक और दौर आएगा। सीएम ने लोगों से सचेत रहने की अलीप की है। भारी बारिश के चलते प्रदेश के 52 बड़े बांधों में से 27 बांधों के गेट खोल दिए गए हैं। इससे कई नदियों में बाढ़ की स्थिति है। बरगी के 13, तवा के 13 में से 5 और बारना डैम के 6 गेट खोलने से नर्मदा का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में बाढ़ से उत्पन्न की स्थिति की मंगलवार को नर्मदापुरम से वीसी के जरिये समीक्षा की। उन्होंने कहा कि बांधों का पानी एक साथ नहीं छोड़ा जाए। इसे इस प्रकार रेगुलेट करें कि बाढ़ की स्थिति न बने। सीएम सोमवार को परिवार सहित पचमढ़ी पहुंचे थे, लेकिन बारिश के चलते उन्हें मंगलवार दोपहर ही लौटना पड़ा।

अगले चौबीस घंटे में यहां के लिए अलर्ट

मौसम विभाग ने आने वाले 24 घंटों के दौरान राजगढ़, नीमच, रतलाम, शाजापुर, आगर, उज्जैन, रायसेन और मंदसौर जिलों सहित चंबल-ग्वालियर संभागों में भारी बारिश की संभावना जताई है। यहां जिला प्रशासन को अलर्ट किया गया है।

विदिशा के कई इलाकों में रेस्क्यू, 430 को निकाला

विदिशा में बेतवा नदी के बड़े पुल पर 4 फीट ऊपर पानी बह रहा है। इस वजह से गांव जलमग्न हो रहे हैं। मंगलवार को जिले के अलग-अलग क्षेत्रों से 450 लोगों को रेस्क्यू किया गया। कई गांव मुख्यालय से कट गए हैं।

बेतवा - धसान उफान पर, टीकमगढ़ छतरपुर  रूट बंद: ओरछा में बेतवा नदी और टीकमगढ़ में धसान नदी उफान पर है। यूपी के माताटीला बांध और टीकमगढ़ के बानसुजारा बांध से पानी छोड़े जाने के चलते टीकमगढ़ छतरपुर मार्ग बंद कर दिया गया।

तहसीलदार सिवान नदी में बहे, पटवारी भी लापता

शाजापुर। मंगलवार शाम जिले की मोमन बड़ोदिया तहसील में पदस्थ तहसीलदार नरेंद्रसिंह ठाकुर सीहोर के पास चार पहिया वाहन से सिवान नदी की पुलिया पार करते समय तेज बहाव में बह गए। तहसीलदार नरेंद्रसिंह ठाकुर और नसरुल्लागंज तहसील में पदस्थ पटवारी महेंद्र रजक सीहोर में अपने मित्र के फार्म हाउस पर पार्टी कर वापस शाजापुर आ रहे थे। सीहोर के पास सिवान नदी पर बने कर्बला पुल पर पानी होने के बावजूद वह गाड़ी से पुल पार कर रहे थे।

  24 घंटे में कहां-कितनी बारिश (इंच में)
      क्षेत्र                                           बारिश
मलाजखंड                                          07
पचमढ़ी                                               07
नरसिंहगढ़                                         07
मंडला                                                 05
भोपाल                                                05
सागर                                                  03
सिवनी                                                03
नरसिंहपुर                                         02
नर्मदापुरम                                       1.5
खजुराहो                                          1.5
उमरिया                                           1.5
सीधी                                                 01
दमोह                                               01