गलियों में घूमे डोभाल, महिला बोली आप नहीं आते तो हमारा हार्ट फेल हो जाता

गलियों में घूमे डोभाल, महिला बोली आप नहीं आते तो हमारा हार्ट फेल हो जाता

नई दिल्ली। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सीएए विरोधी हिंसा में बुधवार तक 24 लोगों की मौत हो गई, 250 जख्मी हैं। हिंसा के 3 दिन बाद प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों से शांति और भाईचारे की अपील की। इस बीच, बुधवार दोपहर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल जाफराबाद जैसे इलाकों में पहुंचे और लोगों से बात की। डोभाल ने अलग-अलग इलाकों का दौरा किया। उन्होंने राहगीरों से कहा- जरा सी भी तकलीफ हो तो बताएं। यह सारी की सारी फोर्स लगी है आपकी सुरक्षा के लिए। इस बीच एक महिला ने एक पुलिस अफसर की तरफ इशारा कर कहा- ये भाईसाहब आएं हैं तब से तो हम चैन ले पा रहे हैं। नहीं तो हमारा हार्ट फेल हो जाते। इस पर डोभाल ने कहा- कोई हार्ट फेल नहीं होता। इतना कच्चा हार्ट मत रखा करो कि फेल हो जाए। डोभाल को देखकर एक छात्रा वहां पहुंची। उसने कहा- सर, यह हमारा घर है और हम हमारे घर में ही महफूज नहीं। मैं स्टूडेंट हूं और पढ़ने नहीं जा पा रही हूं। आप कुछ कड़े कदम उठाइए। इस पर डोभाल ने कहा- ‘मैं आपको जबान देता हूं।’

IB ऑफिसर  की हत्या, नाले में फेंका गया शव

दिल्ली में इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के सिक्योरिटी असिस्टेंट अंकित शर्मा (26) की मंगलवार को भीड़ ने गोली मारकर हत्या कर दी।

106 लोग गिरμतार, 18 FIR: उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा में संलिप्तता के चलते106 लोग गिरμतार किए गए हैं। 18 एफआईआर दर्ज की गई है।

सुप्रीम कोर्ट की पुलिस को फटकार; हाईकोर्ट ने कहा- भड़काऊ वीडियो वायरल हैं तो एफआईआर क्यों नहीं की?

सुप्रीम कोर्ट

हिंसा, भड़काऊ बयानों और इस पर पुलिस कार्रवाई को लेकर बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट ने मौजूदा हालात पर कहा कि दिल्ली की हिंसा में लोगों की मौत से हैरान हैं। पुलिस अगर भड़काने वालों को पहले ही पकड़ लेती तो हिंसा नहीं लेती। हमें ब्रिटिश पुलिस से सीख लेनी चाहिए। ब्रिटेन और अमेरिकी पुलिस को कार्रवाई के लिए इधरउ धर नहीं देखना पड़ता है।

हाईकोर्ट

हाईकोर्ट के एस जस्टिस मुरलीधर ने दिल्ली पुलिस को फटकार लगाई और कोर्ट रूम में भाजपा नेता कपिल मिश्रा के भड़काऊ भाषण का वीडियो चलवाया। पुलिस से पूछा- क्या यह जरूरी नहीं है कि हिंसा भड़काने वालों पर तुरंत एफआईआर दर्ज हो? पुलिस कमिश्नर क्लिप देखकर एफआईआर दर्ज कराएं और कोर्ट को बताएं। लोगों को भरोसा होना चाहिए कि वे सुरक्षित हैं।

24 मौतें, सुनकर जस्टिस हैरान

???? जस्टिस केएम जोसेफ ने कहा- 13 लोगों की मौत ने मुझे परेशान कर दिया। एक वकील ने उन्हें बताया कि हिंसा में अब तक 24 लोगों की मौत हो चुकी है। इस पर वे हैरान हो गए।

पुलिस पर सवाल ठीक नहीं

???? हाईकोर्ट में पुलिस की ओर से सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता कहा कि मैंने अभी तक वीडियो नहीं देखे हैं। इस वक्त पुलिस पर सवाल उठाने से उनका मनोबल गिरेगा।

हिंसा में मारे गए रतन लाल को शहीद का दर्जा

सीकर। दिल्ली हिंसा में मारे गए राजस्थान के सीकर निवासी हेड कांस्टेबल रतनलाल को केंद्र सरकार ने शहीद का दर्जा दिया है। उनकी पत्नी को सरकारी नौकरी, और एक करोड़ रुपए दिए गए हैं। उधर, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी शहीद को एक करोड़ रुपए देने की घोषणा की है।