निगमायुक्त को कर संग्रहकों ने दिया ज्ञापन, विज्ञप्ति के 5000 रुपए न लेने व वरिष्ठों को जिम्मेदारी देने को कहा

Tax collector

निगमायुक्त को कर संग्रहकों ने दिया ज्ञापन, विज्ञप्ति के 5000 रुपए न लेने व वरिष्ठों को जिम्मेदारी देने को कहा

ग्वालियर। निगम कर संग्रहकों को 100 करोड़ से ज्यादा वसूली टारगेट मिलने के बाद संपत्तिकर के वरिष्ठ अधिकारियों को वसूली अभियान में शामिल करने व नामातंरण के लिए स्वीकृत हो चुकी फाइलों पर 5000 रूपये विज्ञप्ति शुल्क न लेने जैसे मांगों को लेकर निगमायुक्त संदीप माकिन को ज्ञापन दिया। मौके पर वाल्मीकि युवा विकास समिति के सदस्यों ने भी विनियमित/आउटसोर्स कर्मचारियों के संबंध में मांग उठाइ गई। बाल भवन पर दोपहर में निगम कर संग्रहकों ने निगमायुक्त को दिए ज्ञापन में बताया कि नए विज्ञप्ति शुल्क लंबित/स्वीकृत हो चुके प्रकरणों पर लेने से विवाद होने, कर संग्रहकों से 25 हजार राशि तक कर संग्रहक से, 50 हजार तक एपीटीओ से, एक लाख तक सहायक आयुक्त व उससे अधिक राशि की वसूली के लिए उपायुक्त/अपर आयुक्त के मध्य कार्य विभाजित करने, वसूली के शत-प्रतिशत होने के लिए कर संग्रहकों को कोरोना ड्यूटी से मुक्त करने, कर संग्रहकों को कोरोना वॉरियर्स की मान्यता देकर सुरक्षा व सैनेटाइजर देने, लंबित जांच प्रकरणों को अबिल्मव निपटाने, नामाकंन लिपिक की आवश्यकता नहीं होने, निराकृत नामांकन प्रकरणों की नस्तियों के लिए रिकार्ड शाखा बनाकर जमा करवाने, कार्यालय में फर्नीचर-पेयजल व प्रकाश व्यवस्था उपलब्ध करवाने के आदेश देने को कहा। जिसके बाद निगमायुक्त ने अपर आयुक्त राजेश श्रीवास्तव को विस्तुत गाइडलाइन बनाकर निर्देश लेने को कहा। मौकेपर शैलेन्द्र सिंह चौहान, ललित खटके सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

वाल्मीकि समाज ने भी ज्ञापन देकर बताई समस्याएं 
वाल्मीक युवा विकास समिति ने निगमायुक्त संदीप माकिन को सौंपे ज्ञापन में बताया कि निगम कर्मचारियों से एमपीएस कट्रोत्रा किया जा रहा है, लेकिन उनके नंबर न आने, ईपीएफ का भुगतान न होने से आक्रोश है। साथ ही सफाई कर्मचारियों को पीएमएवाय व राजीव आवास योजना में रियायती दरों पर आवास देने, स्थाई व आउटसोर्स कर्मियों को नियमित करने, सफाई कर्मचारियों का बीमा करवाने, वार्ड मॉनीटर के शोषण से मुक्ति दिलाने की मांग की। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष विक्रम बागडे, महामंत्री रवि टांक, उपाध्यक्ष सुधीर डागोर व विजय डागोर उपस्थित थे।