कोरोना के खिलाफ जंग में उतरीं पीपुल्स हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेजकी टीमें, जोखिम उठाकर लगातार जुटा रहीं हैं सैंपल

कोरोना के खिलाफ जंग में उतरीं पीपुल्स हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेजकी टीमें, जोखिम उठाकर लगातार जुटा रहीं हैं सैंपल

भोपाल। कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के ख़िलाफ़ पूरे देश में जंग जारी है। डॉक्टर्स पूरी मेहनत के साथ कोरोना मरीज़ों का इलाज कर रहे हैं। महामारी के इस कठिन दौर में हॉस्पिटल्स की भूमिका इन दिनों बेहद महत्वपूर्ण हो गई है। ऐसे में पीपुल्स हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेज जिला प्रशासन के दिशा निर्देशानुसार के कोरोना महामारी के ख़िलाफ़ जारी युद्ध में एक योद्धा बनकर सबसे आगे खड़ा है। पीपुल्स हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेज के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ (कर्नल) आलोक कुलश्रेष्ठ के मुताबिक़ भोपाल ज़िला प्रशासन के दिशा निर्देशों के अनुसार पीपुल्स हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेज की 5 टीमें कोरोना वायरस संक्रमण की सैंपल जांच का काम कर रही हैं। हर टीम में 3 सदस्य हैं, जिनमें एक डॉक्टर, एक नर्स और एक टेक्नीशियन शामिल है। हर रोज़ यह 5 टीमें अलग-अलग जगहों पर जाकर सैम्पल लेने के बाद इन्हें हॉस्पिटल में जमा कराती हैं। कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के इस कठिन दौर में हम पूरी तरह से ज़िला प्रशासन को सहयोग कर रहे हैं। मई महीने की भीषण गर्मी में भी पीपुल्स हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेज की मेडिकल टीमें कई घंटों तक पीपीई किट पहनकर सैम्पल इकट्ठा करना का महत्वपूर्ण काम कर रही हैं। कोरोना वायरस संक्रमण का जानलेवा ख़तरा होने के बाद पीपुल्स हॉस्पिटल एंड मेडीकल कॉलेज की टीमें बिना डरे और बिना थकेकाम में जुटी हैं। गौरतलब है कि इंदौर समेत देश के कई शहरों में मेडिकल टीमों पर हमले हो चुके है। बावजूद पीपुल्स हॉस्पिटल की टीमें अपने कर्तव्यों को पूरा करने के लिए बिना डरे सैम्पल इकट्ठा करने का काम कर रही हैं। टीम के साथ पुलिस और नगर निगम की टीम हमेशा साथ रहती है।

अपने कर्तव्यों को पूरा करने के लिए हम हमेशा तैयार

पीपुल्स हॉस्पिटल की तरफ से सैम्पल जमा करने जाने वाली डॉ. ऐश्वर्या पाटीदार के मुताबिक़ भीषण गर्मी में पीपीई किट पहनकर घंटों काम करना बड़ी चुनौती है। लेकिन देश पर आई मुसीबत की इस घड़ी में हम इन परेशानियों से पीछे हटने वाले नहीं हैं। हम कर्तव्यों को पूरा करते रहेंगे।

कोरोना के ख़िलाफ़ जंग हम जीतकर ही रहेंगे

टीम की सदस्य डॉ.अंशुल त्रिपाठी का कहना है, ‘डर के आगे जीत है और जीत के लिए हम डॉक्टर्स की भी ज़िद है कि हम कोविड-19 के ख़िलाफ़ जारी जंग जीतकर ही दम लेंगे। हमारे हॉस्पिटल और ज़िला प्रशासन की तरफ़ से हमें पूरा सहयोग मिल रहा है।