24 घंटे में दर्जन भर बार हो रही लाइट गुल पूरा शहर परेशान

 08 Jun 2020 07:50 AM  2

जबलपुर । विगत कई दिनों से शहर में हर दिन व रात में कई-कई बार हो रही बिजली गुल होने से शहर के नागरिक परेशान हैं। भारी गर्मी व उमस के बीच लाइट का गुल होना हर किसी को प्रताड़ित कर रहा है। इस संबंध में विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारी भी बेखबर हैं। आलम यह है कि 24 घंटे में 1 दर्जन बार तक थोड़े-थोड़े समय के लिए लाइट गुल हो रही है। वर्षा पूर्व बिजली मेंटेनेंस के काम पर लोग सवाल उठा रहे हैं। इसमें भारी -भरकम राशि भी खर्च की जाती है इसके बावजूद जरा सी हवा या आंधी में लाइट गुल हो रही है। मेंटेनेंस में अधिकारियों और ठेकेदारों की मिलीभगत की आशंका भी जताई जा रही है। प्री मानसून के पहले ही बिजली विभाग की सारी व्यवस्थाएं ठप होकर रह गई हैं। बताया जा रहा है कि कुछ समय पहले ही मेंटेनेंस के नाम पर लाखों रुपए खर्च किए गए हैं जिसमें कई जगह खंबे भी बदले गए हैं व नए तार भी लगाए गए हैं। इसमें प्रयुक्त सामग्री के घटिया होने के आरोप भी लग रहे हैं।

घटिया सामग्री से हो रही दिक्कत

मरम्मत या नवीनीकरण के काम में घटिया सामग्री के कारण ही कहीं तार टूटकर गिर रहे हैं तो कहीं केबिल जल रही है। ट्रांसफार्मर का फ्यूज उड़ रहा है। इस अनियमितता की उच्च स्तरीय जांच की मांग लोग कर रहे हैं। रविवार को भी दोपहर व देर शाम लाइट गुल होने से लोग परेशान हुए।

आंधी पानी में ही ट्रिपिंग हुई थीअभी तो कहीं से कोई शिकायत नहीं आई हैं। शहर में 172 फीडर हैं जिनमें साढ़े 4 हजार ट्रांसफार्मर हैं कहीं- कहीं तो समस्या आ सकती है। आई के त्रिपाठी,एसई सिटी,मप्र पूर्व क्षेत्र वितरण कंपनी

बार-बार बिजली गुल होने से बीमार बुजुर्ग व बच्चों के साथ पूरा परिवार परेशान हो जाता है। इस पर रोक लगनी चाहिए। साथ ही दोषी अधिकारियों पर भी कार्रवाई होनी चाहिए। -मो. रहमान, गोहलपुर

एक तो भीषण गर्मी ऊपर से उमस दिन में 10- 10,12-12 बार हो रही लाइट की आंख मिचौनी से बहुत बेचैनी है। समझ में नहीं आ रहा कि बिजली विभाग किस तरह का मेंटेनेंस करता है। -सुमित केशरवानी, पांडे चौक

मेंटेनेंस के नाम पर लाखों करोड़ों रुपए खर्च किए जाते हैं मगर हर बार ये व्यवस्था फेल हो जाती है। लोगों की परेशानी से इन्हें कोई मतलब नहीं होता,फोन करने पर संतोषजनक जवाब भी नहीं मिलता। -विकास जाटव, पड़ाव गढ़ा फाटक