वीरांगना के साथ छल हुआ था, कांग्रेस के साथ भी :मिश्रा

 18 Jun 2020 11:25 PM  2

ग्वालियर। वीरांगना लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस पर श्रद्धाजंलि अर्पित करने पहुंचे कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता और ग्वालियर -चंबल की 16 विधानसभा सीटों के मीडिया प्रभारी केके मिश्रा ने कहा है कि लक्ष्मीबाई के साथ ग्वालियर में छल किया गया था। इसीलिए किला जीतने के बाद भी उन्हें शहादत देना पड़ी। वीरांगना की शहादत दिवस के बहाने उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया को खूब घेरने का प्रयास किया। वे गुरुवार को समाधि स्थल पर मीडिया से चर्चा कर रहे थे। श्री मिश्रा ने ज्योतिरादित्य सिंधिया का नाम लिए बिना इशारों में उन्हें आड़े हाथ लिया और कहा कि समाधि स्थल पर खड़ी वीरांगना की प्रतिमा के हाथ का इशारा सबकुछ संकेत कर रहा है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय कवियित्री सुभद्रा कुमारी चौहान ने अपनी कविता में लक्ष्मीबाई और अंग्रेजों के साथ हुए संघर्ष की सारी कहानी शब्दों में बयां कर दी थी। उसमें सबकुछ बताया गया था कि लक्ष्मीबाई के साथ गद्धारी किसने की थी ? मिश्रा से जब ऐसे शख्स का नाम पूछा गया और यह जानना चाहा कि अब तक कांग्रेस या आप क्यों चुप रहे? इस पर केके मिश्रा ने कहा कि लोग चुप नहीं थे और न ही ऐसे गद्दारों के खिलाफ चुप रहेंगे।

कांग्रेस के साथ भी छल किया  
प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस की कमलनाथ सरकार के साथ भी छल किया है। सिंधिया के लिए यह कोई नई बात नहीं है। महात्मा गांधी की हत्या की आंच भी ग्वालियर तक आती रही है। वीरांगना लक्ष्मीबाई की शहादत दिवस पर कांग्रेस नेता ने आरपी सिंह, अजीत सिंह तथा धर्मेन्द्र शर्मा, सीमा समाधिया एवं अन्य ने वीरांगना को श्रद्धांजलि अर्पित की।