एंट्री से टेबल तक थ्री लेयर सेनिटाइजेशन क्यूआर कोड से मेन्यू और ई वॉलेट से पेमेंट

 22 Jun 2020 01:57 AM  11

I AM BHOPAL ।  होटल और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर पर कोविड-19 का खासा असर पड़ा है । इसके बाद यह इंडस्ट्री खुद को तमाम तरह से बदलकर होटल में सेफ एंट्री और एग्जिट प्लान कर रही हैं। सिटी के होटल्स सोशल मीडिया और रेगुलर कस्टमर्स के साथ कम्युनिकेशन कर रहे हैं ताकि वे होटल में फॉलो किए जा रहे प्रोटोकॉल्स देंखे और भरोसे के साथ होटल आएं। होटल्स हाउसकीपिंग, फूड सेफ्टी ,ऑक्यूपेशनल हेल्थ जैसे विषयों पर इन-हाउस और इंटरनेशनल एक्सपर्ट्स की मदद ले रहे हैं। ई- वॉलेट, कॉन्टेक्टलेस मेन्यू और सीटिंग अरेंजमेंट में बदलाव किए जा रहे हैं।

टेक अवे फैसिलिटी हो रही प्रिफर

होटल नूर-उस-सबा के मैनेजर सुरेश चौधरी कहते हैं,थर्मल स्क्रीनिंग के बाद गेस्ट को एंट्री देते हैं और टेबल तक तीन बार सेनिटाइजेशन की व्यवस्था है। मास्क न होने पर यह भी उपलब्ध कराते हैं। सीटिंग आधी कर दी है। चेयर और दरवाजों के हैंडल्स तक को सेनेटाइज किया जा रहा है। हम अभी टेक अवे को प्रिफर कर रहे हैं।

 स्टाफ को हैंडवॉश का रिमाइंडर भेज  रहे  

होटल जहांनुमा पैलेस के मैनेजर विनोद सिंह कहते हैं- सुरक्षा उपायों में होटल में प्रवेश के पूर्व मेहमानों व लगेज का सेनिटाइजेशन किया जा रहा है। इसके अलावा एंट्री पाइंट पर गेस्ट के पास आरोग्य सेतु एप होना जरूरी है। साथ ही थर्मल स्क्रीनिंग, मास्क और सेनिटाइज करने के बाद ही रेस्टोरेंट में एंट्री मिलेगी। जिस टेबल पर गेस्ट बैठते है, उसे सेिनटाइज किया जाता है। कॉन्टेक्ट लेस मेन्यू के लिए क्यूआर मेन्यू डेवलप किया है, जिससे आर्डर होते हैं। वेटर्स की ड्रेस इन-हाउस लॉउंड्री में जाती है तो उसे भी सेनेटाइज करते हैं। हर एक घंटे में होटल से सारे स्टाफ को हैंडवॉश करने का रिमाइंडर भेजा जाता है। यही प्रोटोकॉल जहांनुमा रिट्रीट में फॉलो कर रहे हैं।

 खाने से पहले भी फिंगर बाउल, पैकिंग एयर टाइट 

एमपीटी के रीजनल मैनेजर आरिफ नकवी कहते हैं, मिंटो हॉल के रूफ टॉप रेस्टोरेंट 1909 द क्राउन ऑफ  भोपाल में यूज एंड थ्रो मैन्यू फॉलो कर रहे है। जिस तरह खाने के बाद फिंगर बॉउल देते थे, उसी तरह अब खाने के पहले फिंगर बाउल दे रहे हैं। फ्यूजन एप और ऑनलाइन  फूड डिलीवरी एप के जरिए आर्डर  ले रहे हैं। हमने किचन एवं पैकिंग स्टाफ को अलग से ट्रेनिंग भी दी है। पैकिंग पूरी तरह से एयर टाइट दे रहे हैं। डिलीवरी बॉय मिले बिना दरवाजे पर पैकेट ड्रॉप कर देगा। 

बुफे बंद , वन-बाउल-वन मील का कंसेप्ट

कोर्टयार्ड बाय मैरिएट की कम्युनिकेशन हेड पूजा गौर कहती हैं, इक्लेयर्स को ग्राउंड फ्लोर से शिफ्ट करके मोमो कैफे के साथ ले आएं है, ताकि अलग-अलग जगह पर मूवमेंट कम हो। बुफे बंद कर दिया गया है,जिसकी जगह फूड बॉक्स और वन- बाउल-वन मील का कंसेप्ट लेकर आए हैं। सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो कर रहे हैं तो टेबल पर दो चेयर ही रहती हैं। टेबल पर ही मेन्यू क्यूआर कोड है, जिसे स्कैन कर इंफो मिल जाती है। टेक अवे फैसिलिटी भी प्रमोट कर रहे हैं।