धार्मिक गुरू स्वामी सत्यमित्रानंद के निधन पर उप राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने शोक प्रकट किया

Swami Satyamitrananda, eligious guru, Vice President, Prime Minister c

धार्मिक गुरू स्वामी सत्यमित्रानंद के निधन पर उप राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री  ने शोक प्रकट किया
स्वामी सत्यमित्रानंद

नयी दिल्ली | उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धार्मिक गुरू स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि जी महाराज के निधन पर मंगलवार को शोक प्रकट करते हुए आदिवासियों एवं गरीबों की सेवा में उनके योगदान को याद किया ।

उत्तराखंड के हरिद्वार में भारत माता मंदिर के संस्थापक स्वामी सत्यमित्रानंद का आज लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया । उनके निधन के बाद उप राष्ट्रपति नायडू ने ट्वीट किया, ‘‘स्वामी सत्यमित्रानंद गिरि जी महाराज के निधन की खबर सुनकर गहरा दुख हुआ। उन्होंने हरिद्वार में भारत माता मंदिर की स्थापना की थी।’’ उन्होंने कहा कि आध्यात्मिक गुरू ने ‘‘अमूल्य सेवाएं प्रदान की तथा आदिवासी और पहाड़ी क्षेत्रों के गरीब लोगों की सेवा के लिए एवं मुफ्त शिक्षा और चिकित्सा सुविधाएं देकर समन्वय सेवा फाउंडेशन की स्थापना की।’’

उपराष्ट्रपति ने कहा, ‘‘उन्होंने कई प्रशिक्षण केंद्रों की स्थापना की और सनातन धर्म के संदेश के प्रसार के लिए पूरी दुनिया की यात्रा की।’’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि स्वामी सत्यमित्रानंद ने अध्यात्म और ज्ञान को महत्व दिया। मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘गरीबों, वंचितों और हाशिये पर पहुंचे लोगों के सशक्तिकरण के लिए उन्होंने अपना जीवन समर्पित कर दिया। भारत के समृद्ध इतिहास और संस्कृति के लिए वह गौरव हैं। दिव्य आत्मा को मेरी श्रद्धांजलि। ओम शांति।’’