वंडर सीमेंट कंपनी गुणवत्ता में समझौता नहीं करती, इसीलिए लोकप्रियता मिली

वंडर सीमेंट कंपनी गुणवत्ता में समझौता नहीं करती, इसीलिए लोकप्रियता मिली

भोपाल देश की प्रमुख सीमेंट निर्माता कंपनियों में शुमार वंडर सीमेंट ने मध्यप्रदेश के धार जिले के बदनावर में स्थापित प्लांट से सीमेंट उत्पादन शुरू कर दिया है। वंडर सीमेंट के निदेशक विवेक पाटनी ने यहां संवाददाताताओं को बताया कि बदनावर में कंपनी ने सीमेंट ग्राइंडिंग प्लांट में उत्पादन शुरू कर दिया है और इसकी क्षमता दो मिलियन टन प्रतिवर्ष है। कंपनी ने राज्य के बदनावर में लगभग साढ़े तीन सौ करोड़ रुपयों का निवेश किया है। कंपनी का इस तरह का एक प्लांट महाराष्ट्र के धुले में अगस्त 2018 से कार्य कर रहा है। श्री पाटनी ने बताया कि शीघ्र ही हरियाणा के झज्जर में भी इसी तरह के संयंत्र से सीमेंट उत्पादन शुरू हो जाएगा। झज्जर में कंपनी लगभग साढ़े चार सौ करोड़ रुपयों का निवेश कर रही है। उन्होंने बताया कि मूल रूप से राजस्थान के आर के समूह की यह कंपनी सीमेंट की गुणवत्ता को लेकर कोई समझौता नहीं करती है। इसलिए बाजार में यह उत्पाद पूरी तरह खप जाता है। कंपनी ने 200 लोगों को रोजगार भी दिया इस मौके पर कंपनी के एक अन्य वरिष्ठ पदाघिकारी जगदीश चंद्र तोशलीवाल ने बताया कि हमने मध्यप्रदेश सरकार की नीति के अनुरूप बदनावर में स्थानीय स्तर पर 70 फीसदी लोगों को रोजगार देने की प्रक्रिया का भी पालन किया है। उनका दावा है कि कंपनी के माध्यम से प्रत्यक्ष तौर पर लगभग दो सौ लोगों को रोजगार मिल रहा है। जबकि परोक्ष रूप से भी कई लोगों को रोजगार मिलेगा। एक अन्य पदाधिकारी शशिमोहन जोशी ने बताया कि निश्चित तौर पर औद्योगिक क्षेत्र में भी मंदी का माहौल है, लेकिन हम इसके बावजूद बेहतर गुणवत्ता वाले उत्पाद के जरिए बाजार में जगह बनाए हुए हैं। इसी से जुड़े एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष देश में सीमेंट उद्योग में दो प्रतिशत की बढ़त दर्ज की गयी थी, जबकि उनकी कंपनी ने 20 प्रतिशत बढ़त हासिल की थी